कोरोना वायरस वैश्विक महामारी COVID 2019 लक्षण एवं बचाव के लिए आवश्यक सावधानियां

By | April 13, 2020

कोरोना वायरस वैश्विक महामारी COVID 19

दोस्तों जैसा की आप जानते हैं की कोरोना वायरस (COVID19) सभी देशों में भयावयहक समस्या बना हुआ है। विश्व स्वस्थ्य संगठन ने इसे वैश्विक महामारी (Worldwide Pandemic) घोषित कर दिया है। चीन से उत्पन्न हुआ यह कोरोना वायरस अब भारत में भी फैलने लगा है। कोरोना वायरस की विस्तृत जानकारी एवं बचाव के उपाय यहाँ दिए हुए हैं।

कोरोना ताजा अपडेट 13.04.2020: 13 अप्रैल सुबह 9 बजे तक राजस्थान से कोरोना अपडेट राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव की संख्या पहुंची ”815” सुबह 9 बजे तक राजस्थान में कुल 11 नये केस भरतपुर से 10 और बांसवाडा से एक पांच वर्षीय बच्ची पॉजिटिव भरतपुर में अब कुल पॉजिटिव का आंकड़ा 19 वंही बाँसवाड़ा में ये आंकड़ा पहुंचा 53.

जयपुर 341, बांसवाडा 53, जोधपुर 51, टोंक 59, बीकानेर 34, कोटा 40, जैसलमेर 29, झुंझुनू – 31, भीलवाड़ा 28 ,झालावाड़- 14 ,चुरू -14, अजमेर 5,अलवर 7,भरतपुर 19, दौसा 8, धौलपुर 1, डूंगरपुर 5, करौली 3, पाली 2, सीकर 2, उदयपुर 4,प्रतापगढ़ 2, नागौर 6 ,बाड़मेर 1,हनुमानगढ़- 2, ईरान से लौटे यात्रियों में से अब तक कुल 52 पॉजिटिव

क्या है कोरोना वायरस (कोविड19)

कोरोना वायरस का एक बड़ा परिवार है जो सामान्य सर्दी से लेकर गंभीर बीमारियों जैसे बुखार , झुकाम, सांस लेने में तकलीफ जैसी गंभीर बिमारियों तथा Middle East Respiratory Syndrome (MERS-CoV) and Severe Acute Respiratory Syndrome (SARS-CoV) को जन्म देता है। कोरोना वायरस जानवरों से लोगों के बीच संचारित होने वाला वायरस (Zoonotic) है। विस्तृत जांच में पाया गया कि बिल्लियों और ऊंटों से मनुष्यों में स्थानांतरित किया गया है। यह वैश्विक स्तर पर एक खतरनाक वायरस है जो संक्रमण से फैलता है। COVID 19 पहली बार दिसंबर 2019 में चीन के वुहान शहर में दिखाई दिया था। चीन के बाद अब भारत एवं अमेरिका, तिब्बत, जापान , नेपाल, पाकिस्तान, ईरान, इटली, मंगोलिया में भी फैलने लगा है। जो विश्व स्वस्थ्य संगठन के लिए एक गंभीर मुद्दा बन चुका है।

विभिन्न सरकारी एजेंसियां जैसे विश्व स्वस्थ्य संगठन (WHO), संयुक्त राज्य अमेरिका रोग नियंत्रक केंद्र (DCC), विश्व स्वस्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (WHFWS), राष्ट्रीय स्वस्थ्य मिशन (NHM), चिकित्सा विभाग (HD) इस महामारी के निदान में जुटी हुई है।

कोरोना वायरस से किस प्रकार के संक्रमण का खतरा है देखें

  • तेज बुखार होना
  • तेज सर दर्द होना
  • झुकाम होना
  • सांस फूलना
  • सांस लेने में तकलीफ होना
  • निमोनिया, फेफड़ों में सूजन
  • गुर्दे/ किडनी ख़राब होना
  • अंततः मृत्यु

ध्यान रखें : इसके लक्षण 2-14 दिन में ही दिखाई देने लगते हैं। पहले बुखार और खांसी, फिर हफ्ते भर तक यही स्थिति, फिर सांस लेने में तकलीफ, इलाज के लिए हॉस्पिटल में जाना पड़ सकता है।

किस माध्यम से फ़ैैलता है कोरोना वायरस

कोरोना (COVID19) मुख्यतया जानवरों जैसे बिल्ली, ऊँट, चमगादड़ इत्यादि में मल्टीप्लाई होता है। जब किसी मांसाहारी इंसान द्वारा किसी कोरोना वायरस संक्रमित जानवर का भक्षण किया जाता है तो वह मनुष्य भी कोरोना संक्रमित हो जाता है।

  • संक्रमित मनुष्य से।
  • मांसाहारी खाने से।

ध्यान दे : यदि किसी में कोरोना जैसे लक्षण दिखाई दें तो उस से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाये रखें।

कोरोना वायरस से बचाव के उपाय

कोविड महामारी संक्रमण से फैलती है जो जानवरों से मनुष्य या मनुष्य से मनुष्य में आसानी से स्थानान्तरित हो रही है। किसी भी बिमारी का प्रारंभिक इलाज बचाव ही होता है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए कुछ महत्वपूर्ण उपाय यहाँ दिए जा रहे है। अतः आप सभी इनका अनुसरण करें जो की बहुत ही कारगर साबित होगा।

  • छींकते वक्त हाथ एवं मुँह रुमाल या टिश्यू पेपर से ढकें।
  • बार बार डेटोल या साबुन से हाथ धोएं।
  • किसी भी प्रकार के मॉस का सेवन न करें।
  • सर्दी या फ्लू से संक्रमित लोगों के पास जाने से बचें।
  • जीवित या मृत जंगली / पालतू पशुओं से दूर रहे।
  • एक दूसरे से हाथ मिलाने की बजाय नमस्ते करें।
  • बार बार आँख, नाक, कान, मुँह को ना छुएं।
  • बीमार होने की स्थिति में घर पर ही रहे।
  • हाथ साफ़ करने के लिए Alcohol Based Hand Sanitizer का उपयोग करें।

साबुन और पानी से हाथ साफ करें          छींकते वक्त नाक मुंह ढकें         अल्कोहल सैनीटाईज़र का उपयोग कम करें

                            

     जंगली जानवरों से दूर रहे             संक्रमित लोगों के पास जाने से बचें                पानी को उबालकर पिएं

                                

कोरोना वायरस से सम्बंधित वैज्ञानिक तर्क

कोरोना वायरस के फैलने का कोई पुख्ता तर्क अभी तक सामने नहीं आया है। यह कहा जा रहा है की चीन के समुन्द्र किनारे रहने वाले लोगों के समुंद्री खाने की वजह से फैला है। वैज्ञानिक विभिन्न प्रकार के तर्क दे रहे हैं जैसे की।

  • चीनी वैज्ञानिको का दावा: पैंगोलिन से चमगादड फिर इंसानो में फैला वायरस।
  • डब्ल्यू एच ओ का तर्क: चमगादड ने दूसरे जानवरो को संक्रमित किया, उस से इंसानो में फैलने की आशंका।

कोरोना वायरस के लक्षण दिखने के बाद क्या करें।

  • चीन से आये यात्रियों में यदि लक्षण दिखें तो तुरंत नजदीकी चिकित्सा संसथान से संपर्क करें।
  • लक्षण वाले यात्री मास्क का उपयोग करें अथवा मुँह को ढक कर रखें।
  • लक्षण दिखने पर स्वयं उपचार नहीं करें, डॉक्टर की सलाह से उपचार लें।
  • भीड़ भाड़ वाली जगहों जैसे रेलवे स्टेशन, बस अड्डा, शॉपिंग मॉल, मेले आदि में न जाएँ।
  • बस, रेल गाडी, मेट्रो आदि में सफर करने से बचें।

Frequently Asked Questions FAQs about COVID 19

Que. कोरोना वायरस COVID का आकर क्या है ?

Ans: इंसान के बाल से 900 गुना छोटा है कोरोना लेकिन इस से कही जयादा खतरनाक है।

Que: कोरोना वायरस के प्रारंभिक लक्षण क्या है ?

Ans: तेज बुखार, तेज सर दर्द, झुकाम, सांस फूलना, सांस लेने में तकलीफ, निमोनिया, फेफड़ों में सूजन, गुर्दे/ किडनी ख़राब होना इत्यादि। 

Que: कोविड 19 के लक्षण कितने दिनों में दिखाई देने लगते हैं ?

Ans: इसके लक्षण 2-14 दिन में ही दिखाई देने लगते हैं।

Que: कोरोना वायरस किस माध्यम से फैलता है ?

Ans: यह संक्रमित मनुष्य, जानवर, खून, मेडिकल सुई इत्यादि के संक्रमण से फ़ैल सकता है।

Que: सर्व प्रथम कोरोना वायरस का पहला मरीज कहाँ मिला था ?

Ans: COVID 19 पहली बार दिसंबर 2019 में चीन के वुहान शहर में दिखाई दिया था। 

Que: कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए हाथ किस से धोने चाहिए ?

Ans: दिन में बार बार हाथ साबुन या डेटोल से धोये तथा अल्कोहल सैनीटाईज़र का उपयोग काम करें।

Que: क्या कोरोना वायरस छींकने से फैलता है ?

Ans: हाँ।

विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO द्वारा कोरोना के विषय में आवश्यक निर्देश 

सुनिश्चित करें कि आप, और आपके आस-पास के लोग, अच्छी श्वसन स्वच्छता का पालन करें। इसका मतलब है खांसी या छींक आने पर अपनी मुड़ी हुई कोहनी या टिशू से अपने मुंह और नाक को ढंकना। किसी भी प्रकार की बाहरी वस्तु का सेवन नहीं करना। भीड़ भाड़ वाले इलाकों से दूरी बनाये रखें तथा बस एवं रेलगाड़ी में यात्रा करने से बचें।

आपका जीवन आपके परिवार एवं हमारे लिए अमूल्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.